शुक्रवार, 15 जनवरी 2016

शीर्षाशन में भी

Edit Posted by with No comments

शीर्षासन में भी


अपने पतिदेव की
नशे की आदत से परेशान
एक पत्नी जब
सारे संभव असंभव उपाय करके भी
नही हुई सफल
तो बेचारी हुई काफी परेशान
प्रत्येक कार्य से थे बिलकुल अनजान
एकाएक शहर में एक योगी राज आये
जिन्होंने योग के द्वारा अनेक कर्तब्य दिखाये
यह पता चलते ही उक्त पत्नी योगी राज से मिली
योगी राज के आश्वासन से
पत्नी के मन में आश की किरण खिली
 योगाभ्यास शुरू हुई
चलता रहा , चला ही रहा और चलता रहा
एक बर्ष के पश्चात
योगी राज ने शराबी की पत्नी से पूछा
योगी राज ने शराबी की पत्नी से पूछा
क्या कुछ परिवर्तन के लक्ष्ण दिखाई नही देते ?
पत्नी बोली जी हाँ वो तो अब
शीर्षाशन में भी काफी सरलता से शारब पी लेते है ।


रोचक

0 टिप्पणियाँ: