सोमवार, 25 जनवरी 2016

आओ हम गणतंत्र मनाये

Edit Posted by with No comments

           आओ हम गणतंत्र मनाये

       
राष्ट्र हितो के लिए समर्पित ,
हो फिर से सर्वस्य हमारा ,
गौरव मंडित हो भारत हमारा ,
सत्य धर्म को मिले सहारा ।
       
               त्यागे हम सब स्वार्थ भावना ,
               परमारथ का पथ अपनाये ,
               ऐसे हम गणतंत्र मनाये ।


चरित्रवान हो नेता सारे ,
नैतिकता का अनुपालन हो ,
राष्ट्र भक्ति की प्रखर भावना ,
भरी यहां के जन -जन मन हो ।

                त्याग बलिदान जागे फिर
                बलिपथ पर हम कदम बढ बढ़ायें ,
                ऐसे हम गणतंत्र मनाये ।

भष्ट्राचार मिठे शासन का ,
शुद्ध बने आचरण हमारा ,
अनाचार से लोहा लेने ,
बढ़े भारत के युवक सारा ।

          अनुशासित हो कर्मी सारे ,
          सतकर्मो को गले लगाये ,
          ऐसे हम गणतंत्र मनाये ।

महाशक्ति यह बने हमारा ,
स्वतन्त्रता के मानावत का ,
भूमण्डल को दे सन्देश ,
मित्र बने आपस में हम सब ,
मित्र भाव का हो विस्तार ,
उग्रवाद आतंकवाद का ,
हो यहा शीघ्र निस्तार ,
बच्चे बच्चे भारत के ,
       
              शौर्यशील बलशाली कहलाये ,
              आओ हम गणतंत्र मनाये ।

समरस हो सारा समाज यह ,
मानवता का बने हितैषी ,
सभी सुखी सम्पन बने फिर ,
प्रगति करे हम भौतिक ऐसी ,
राष्ट्र अस्मिता की रक्षा हित में ,
       
                  हर्षित हो कर प्राण लुटाए ,
                 ऐसे हम गणतंत्र मनाये ।।
भारत माता कीइइइइइ
जयययययय





रोचक

0 टिप्पणियाँ: