सोमवार, 25 जनवरी 2016

हम फूल नही अंगारे है

Edit Posted by with No comments

हम फूल नही अंगारे है 

हम फूल नही अंगारे है,

माँ की आँखों की तारे है ।

पनघट में राह बनाते है ,

दुश्मनो को मजा चखाते है ।

हम हिन्दुस्तानी रिपुओं को ,

पल भर में मार भगाते है ।

मत करो हमला भारत पर ,

वरना पागलो पछताओगे ।

हम शोला बन कर बरसेगें ,

जल कर स्वाहा हो जाओगे । ।

रोचक

0 टिप्पणियाँ: