गुरुवार, 14 जनवरी 2016

भ्रष्ट्राचार के विरुद्द

Edit Posted by with No comments

दोस्तों भ्राष्ट्राचार के विरुद्द

 मुझे लगता है भ्रष्ट्राचार के विरुद्द अब कभी जंग नही हो सकती ,
 अलबत्ता हिस्सा बाटने में हो सकती है झगड़ा ,
वसूल करने में नियत तंग नही हो सकती ।।
रोचक

0 टिप्पणियाँ: